Campus Diaries MX Player वेब सीरीज़ रिव्यू: हर्ष बेनीवाल, ऋत्विक साहोरे

MX Player, एक फ्री ओटीटी प्लेटफॉर्म, जो आपसे स्ट्रीमिंग का कोई पैसा नहीं लेता।

इस पर हाल ही एक वेब सीरीज़ रिलीज़ हुई हैं – कैम्पस डायरीज।

एक ऐसी वेब सीरीज़, जो बनी हैं कॉलेज लाइफ पर, वो लाइफ जिसे कुछ लोग शायद जी चुके हैं और कुछ लोग उस तक पहुँचने वाले हैं।

वेब सीरीज़ में आपको एक लंबी चौड़ी स्टार कास्ट देखने को मिलेगी।

यूट्यूब स्टार हर्ष बेनीवाल इस वेब सीरीज़ में सुधीर नाम का कैरेक्टर प्ले कर रहें हैं वहीं उनके जिगरी यार बने हैं ऋत्विक साहोरे – जिन्होंने इस सीरीज़ में अभिलाष नाम का कैरेक्टर प्ले किया हैं।

दोस्तों के इस ग्रुप में दो लड़कियाँ भी हैं – सृष्टि रिंदानी और सलोनी खन्ना जो सान्या और सुष्मिता का रोल प्ले कर रहीं हैं।

इस ग्रुप में पाँचवे सदस्य की एंट्री होती हैं राघव गुप्ता की जिनका कैरेक्टर प्ले कर रहें हैं अभिनव शर्मा।

कैम्पस डायरीज इन्हीं पाँच दोस्तों के इर्द गिर्द बनी एक सीरीज़ हैं जो हमें फिर से हमारे पुराने कॉलेज के दिनों को जीने का एक मौका देती हैं।

बात कॉलेज की हो रहीं हैं तो में आपको अपने बारे में बताउँ – में एक कॉलेज ड्रॉपआउट स्टूडेंट हूँ और सच में इस सीरीज़ को देखने के बाद अपने कॉलेज के दिन बहुत मिस कर रहा हूँ।

खैर, अपने इमोशन्स को साइड में रखते हैं और बात करते हैं MX Player original वेब सीरीज़ कैम्पस डायरीज की।

इस सीरीज़ को प्रेम मिस्त्री और अभिषेक यादव ने बनाया हैं, वहीं अभिषेक यादव जिन्होंने कोटा फैक्टरी जैसी सीरीज़ बनाकर लोकप्रियता हासिल की थी।

वैसे, इन पाँच दोस्तों के अलावा इनके ओर भी फ्रैंड्स हैं, ओर भी सपोर्टिंग कैरेक्टर्स हैं जिन्होंने इस सीरीज़ में जान डाली हैं।

उनके बारे में हम रिव्यू में आगे बात करेंगे।

Campus Diaries MX Player Web Series Review in Hindi

Campus Diaries Web Series Story (कहानी)

कैम्पस डायरीज वेब सीरीज़ की कहानी शुरू होती हैं एक्सेल यूनिवर्सिटी से, ये वहीं यूनिवर्सिटी हैं जहाँ ये सभी दोस्त पढ़ते हैं, और शुरुआत होती हैं बहाना बनाकर चलती क्लास से बाहर जाना।

क्या आपने ऐसा कभी किया हैं? अगर हाँ तो अपना अनुभव कॉमेंट्स में जरूर शेयर कीजिएगा।

इस सीरीज़ के ज्यादा सीन्स आपकों कॉलेज की कैंटीन में ही देखने को मिलेंगे।

फिर चाहें वो दोस्तों की लड़ाई हो, किसी की चुगली करना हो या फिर अपनी लाइफ में चल रहें मुद्दों पर बातें करना हो।

इस सीरीज़ में हमें एक साधारण सी कॉलेज लाइफ देखने को नहीं मिलने वाली बल्कि उसके एक कदम ओर आगे, इस सीरीज़ में दिखाया गया हैं।

या फिर आप यूँ कह सकतें हैं कि सच्चाई से रूबरू करवाया गया हैं।

इसमें हमें जहाँ पॉलिटिक्स का जोश दिखेगा वहीं ड्रग्स से बेहोश होते लोग भी देखने को मिलेंगे और वहीं कुछ प्राणी अपने सपनों के आशियाने सँजोते भी पाएं जाएंगे।

अच्छा, इस सीरीज़ की सबसे अच्छी चीज मुझे ये लगी कि इसमें कुछ भी ऐसा नहीं हैं जो वास्तविकता से दूर हो, मतलब सब कुछ वो हैं जो हर एक कॉलेज स्टूडेंट की जिंदगी में हो सकता हैं और होता हैं।

यहाँ हमें रैगिंग भी देखने को मिलेगी तो प्यार की नई नई स्टोरीज भी।

ये भी पढ़ें:- Chandigarh Kare Aashiqui मूवी रिव्यू: रोमांस के साथ साथ सोशल मैसेज

सभी दोस्त आपको हँसाने का मौका भी नहीं छोड़ेंगे तो कभी कभी इनकी हालत देखकर आपकी आँखों से आसुँ बहना भी तय हैं।

सभी दोस्तों की ज़िंदगी में उतार चढ़ाव आना, फिर कैसे सभी दोस्त एक दूसरे की मदद करके एक दूसरे को संभालते हैं – बस यहीं सब आपको इस सीरीज़ में देखने को मिलेगा।

एक्टिंग और परफॉर्मेंस

इस सीरीज़ को देखने के बाद में ये कह सकता हूँ की इसमें परफॉर्म करने वाले हर कलाकार ने कई बॉलीवुड स्टार्स को एक्टिंग के मामले में पीछे छोड़ दिया।

वो कहते हैं ना, एक्टिंग किसी स्टेज की मोहताज नहीं होती, प्लेटफॉर्म छोटा हैं तो क्या हुआ, टैलेंट किसी प्लेटफॉर्म को नहीं देखता।

यहाँ चाहें हर्ष बेनीवाल की बात हो या फिर उसके सभी दोस्तों की, हर कोई एक से बढ़कर एक।

हर्ष बेनीवाल, जिनके यूट्यूब पर 14 मिलियन से भी ज्यादा सब्सक्राइबर हैं, उन्हें इस कैरेक्टर में एक्टिंग करते देखना वाकई काफ़ी दिलचस्प हैं।

हालाँकि में यहाँ अभिनव की बात जरूर करना चाहूँगा, जिन्होंने राघव गुप्ता के कैरेक्टर को प्ले किया हैं।

campus diaries mx player web series review - abhinav sharma

मूल रूप से यह कैरेक्टर विदेश में रहता हैं अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए, लेकिन उसे ड्रग्स लेने के जुर्म में देश से निकाल दिया गया होता हैं।

और अब वो पढ़ाई पूरी करने एक्सेल यूनिवर्सिटी आता हैं। इस कैरेक्टर को जिस तरह अभिनव ने परफॉर्म किया हैं ना, आप सिर्फ उसे देखते रह जाते हो।

उनकी बॉडी लैंग्वेज, उनका बोलने का लहजा, सब कुछ एकदम परफेक्ट।

ये भी पढ़ें:-

जिस तरह वो अंग्रेजी और हिंदी भाषा को बोलते हैं, सब कुछ एकदम परफेक्ट लगता हैं।

इस सीरीज़ में सलोनी गौर जो कि एक यूट्यूबर भी हैं, उनका कैरेक्टर भी काफी दिलचस्प था।

अब तक हमनें जिस तरह उन्हें बाकी एक्टर्स की मिमिक्री करते देखा हैं, इस सीरीज़ में उनका रोल काफी हद तक उनकी पर्सनेलिटी को जचता हैं।

ओवरऑल, कैम्पस डायरीज में शामिल सभी एक्टर्स ने शानदार परफॉर्मेंस दी हैं।

क्लाइमेक्स

आमतौर पर में रिव्यू के दौरान क्लाइमेक्स को इतना हाईलाइट नहीं करता, लेकिन कैम्पस डायरीज का जो क्लाइमेक्स हैं, बहुत दिनों बाद एक शानदार क्लाइमेक्स देखने को मिला हैं।

इसे देखने के बाद आपके दिल में जरूर ये आएगा कि काश ऐसा क्लाइमेक्स ना होता।

ये भी पढ़ें:- Aranyak Web Series Review: नेटफ्लिक्स का असुर

लेकिन वहीं एक तरफ़ आप इस बात से भी सहमत होंगे कि यहीं जिंदगी हैं और आप सच्चाई से भाग नहीं सकतें।

दिल की बात

जब मैंने इस सीरीज़ को देखना शुरू किया था, मुझे पता ही नहीं चला कि कब मैंने इसे एक ही रात में ख़त्म कर दिया।

कैम्पस डायरीज में कुल 12 एपिसोड्स हैं और सभी एपिसोड्स 30 मिनट से लेकर 50 मिनट के बीच हैं।

आप जब इसे देखना शुरू करोगे तो आपको पता भी नहीं चलेगा कि कब आपने इसके सारे एपिसोड्स देख डालें।

हालांकि कुछ कुछ एपिसोड्स बीच बीच में आपको बोर भी कर सकतें हैं।

रेटिंग

तो यार मेरी तरफ से कैम्पस डायरीज को मिलेंगे 5 में से 4.5 स्टार्स।

एक स्टार इतनी बेहतरीन कास्टिंग के लिए, ऐसा लगा मानों, हर कैरेक्टर के लिए इससे बेहतर कास्टिंग हो ही नहीं सकती।

दूसरा स्टार राईटिंग के लिए, एक कहानी में अलग अलग कहानियों को इतनी खूबसूरती से जोड़ा गया कि सब कुछ परफेक्ट सा लगा।

ये भी पढ़ें:- Pushpa Movie Review: एक फ़िल्म पड़ी पूरे बॉलीवुड पर भारी

तीसरा स्टार परफेक्ट क्लाइमेक्स के लिए, जिसनें इस सीरीज़ को यादगार सीरीज़ में बदल दिया।

सीरीज़ में की गयी शानदार परफॉर्मेंस के लिए चौथा स्टार मिलेगा जिसनें कैम्पस डायरीज को नई ऊँचाईयाँ दी।

और आधा स्टार मिलेगा हमें हमारी कॉलेज की ज़िंदगी को फिर से जीने का मौका देने के लिए।

नेगेटिव्ज की बात करूँ तो सीरीज़ में कुछ कुछ एपिसोड्स को जबरदस्ती थोड़ा लम्बा खींच दिया गया जिससे यह सीरीज़ 12 एपिसोड्स तक चली
गयी।

MX Player एक फ्री ओटीटी प्लेटफॉर्म हैं, जहाँ आप बिना पैसे दिए कैम्पस डायरीज को देख सकतें हैं।

लेकिन ध्यान रहें, की इसे आप अपने परिवार के साथ ना देखें, क्योंकि इसमें गालियों का इस्तेमाल जमकर किया गया हैं।

अगर आप भी अपने कॉलेज के दिनों को फिर से जीना चाहतें हैं तो ये सीरीज़ आपके लिए एक तोहफ़ा हैं मेरे दोस्त।

मिलते हैं आपसे किसी दूसरी मूवी के रिव्यू में, तब तक के लिए जय हिंद, जय भारत।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply