Chandigarh Kare Aashiqui Movie Review in Hindi

क्या आपको वो एक्टर याद हैं जो कुछ वक्त पहले बहुत फेमस हुआ था, एकदम अलग अलग कैरेक्टर्स प्ले करने के लिए।

जिसकी अधिकांश फ़िल्में ऐसी होती थी जो चेहरे पर एक बड़ी सी हँसी भी लाती थी और दिमाग में कोई सोशल मैसेज छोड़ जाती थी, आयुष्मान खुराना।

माना कि इनकी लास्ट फ़िल्म करीब डेढ़ साल पहले आई थी लेकिन कलाकार एकदम उच्च दर्जे का हैं ये मेरे दोस्त।

हाल ही में, इनकी नई फ़िल्म आई हैं, चंड़ीगढ़ करें आशिक़ी, जिसे 10 दिसंबर को थिएटर्स में रिलीज़ कर दिया गया हैं, आप अभी टिकट बुक करवा कर देख सकतें हो।

इस फ़िल्म के लीड कैरेक्टर हैं आयुष्मान खुराना जिन्होंने इसमें एक बॉडीबिल्डर का कैरेक्टर प्ले किया हैं जिसका नाम हैं मनविंदर मुंजाल उर्फ़ मन्नू।

साथ ही, इनके अपोज़िट कास्ट किया गया हैं वाणी कपूर को जिनकी लास्ट फ़िल्म बेल बॉटम थी जिसमें वो अक्षय कुमार के अपोज़िट नजर आई थी, वो उनकी पहली फ़िल्म थी जो YRF फिल्म्स के बैनर तले नहीं बनी थी।

वहीं, इस फ़िल्म को डायरेक्ट किया हैं अभिषेक कपूर ने जिन्होंने नेशनल अवॉर्ड विनर “Rock On” जैसी फ़िल्म लिखी और डायरेक्ट की थी।

फ़िल्म का टाइटल हैं – चंडीगढ़ करें आशिक़ी, मतलब आप समझ तो गए ही होंगे कि ये फ़िल्म प्यार में पड़े आशिकों के लिए स्पेशल हैं।

मैंने ठीक अभी ये फ़िल्म देखी हैं और देखने के तुरंत बाद इसका रिव्यू करने बैठ गया।

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम हैं अमित और आप पढ़ रहें हैं फिल्मी बातचीत।

Chandigarh Kare Aashiqui Movie Review in Hindi

Chandigarh Kare Aashiqui Story

Chandigarh Kare Aashiqui – फ़िल्म की कहानी शुरू होती हैं वर्कआउट से, जैसा कि मैंने रिव्यू के शुरुआत में बताया था कि हमारी इस फ़िल्म का हीरो एक बॉडीबिल्डर हैं तो उसे वर्कआउट्स करते देखना आम बात होने वाली हैं आपके लिए इस फ़िल्म में।

अपने हीरो यानी मन्नू के पास एक जिम हैं जिसमें गिनती के लोग आते हैं वर्कआउट करने। मन्नू का सपना हैं गबरू ऑफ ऑल टाइम का ख़िताब जीतना।

ये गबरू ऑफ ऑल टाइम एक प्रतियोगिता हैं जो चंडीगढ़ में हर साल आयोजित की जाती हैं, फ़िल्म में – वाकई में ऐसा होता हैं या नहीं, इसकी जानकारी मुझे नहीं हैं।

हाँ, अगर आप चंडीगढ़ से हैं तो इसका जवाब जरूर दीजिएगा की इस तरह की कोई प्रतियोगिता चंडीगढ़ में होती हैं या नहीं।

इस प्रतियोगिता में जीत उसकी होती हैं जो सबसे ताकतवर होता हैं और उसका निर्णय होता हैं प्रतियोगिता में होने वाले टास्क से।

फ़िल्म में मन्नू के परिवार के नाम पर उसकी दो बहनें, पिता और दादाजी हैं।

उसकी माँ बचपन में ही मन्नू को छोड़कर चल बसी, जिसके बाद उसे उसके पिता ने पाला पोसा और बड़ा किया।

फिर एक दिन, उसके जिम में शुरू होती हैं जुम्बा की क्लासेज़, जिन्हें नहीं पता उन्हें बता दूँ की जुम्बा एक डांस और फिटनेस मूव्स का कॉम्बिनेशन होता हैं जो फ़िटनेस में रुचि रखने वाले लोग परफॉर्म करना पसंद करतें हैं, इससे शरीर लचीला करने में मदद मिलती हैं।

chandigarh kare aashiqui movie review - mannu meets manvi

और इस क्लास की टीचर होती हैं मानवी ब्रार, जिसे देखते ही हमारे मन्नू भईया का दिल फिसल जाता हैं।

अच्छा, अब जब हम मानवी और मन्नू की लव स्टोरी में घुसने ही वाले हैं तो उससे पहले आपको बता दूँ की मन्नू की दोनों बहनें उसकी शादी करने पर तुली हैं।

अब क्योंकि मन्नू की उम्र बढ़ती जा रहीं हैं तो वो उसे अलग अलग लड़कियों से बात करने के लिए जोर देती रहती हैं, लेकिन अपने मन्नू भईया को तो बस चंडीगढ़ का गबरू बनना हैं।

ये भी पढ़ें:- Satyameva Jayate 2 मूवी रिव्यू: हिट या फ़्लॉप?

यहीं से शुरू होती हैं मन्नू और मानवी की लव स्टोरी, जिसमें एक ऐसा ट्विस्ट आता हैं जो मन्नू और मानवी की लाइफ को एकदम हिला के रख देता हैं।

अब क्या हैं वो ट्विस्ट और क्यों दोनों की लाइफ में तूफ़ान आ जाता हैं? इसे जानने के लिए आपको Chandigarh Kare Aashiqui फ़िल्म को देखना पड़ेगा।

यक़ीनन फ़िल्म की कहानी को बेहद अच्छी तरह से लिखा गया हैं – जहाँ एक ओर लव स्टोरी को खूबसूरती से दिखाने की कोशिश की गई हैं वहीं इस बात का भी ध्यान रखा गया हैं कि फ़िल्म से समाज में एक सोशल मैसेज को किस तरह प्रस्तुत करना हैं।

एक्टिंग और परफॉर्मेंस

पिछले कई सालों से बॉलीवुड में आयुष्मान खुराना ने अपना एक अलग नाम बनाया हैं या फिर अगर यूँ कहे कि उन्होंने ये नाम कमाया हैं तो गलत नहीं होगा।

अपनी काबिलियत और उम्दा एक्टिंग से उन्होंने जिस तरह अलग अलग रोल करके सबका दिल जीता, इस फ़िल्म में उन्होंने जरा भी निराश नहीं किया।

ये भी पढ़ें:- Antim Movie Review in Hindi: सलमान खान, आयुष शर्मा

अब क्योंकि आयुष्मान खुराना की पैदाइश चंडीगढ़ से हैं तो उन्हें पंजाबी लहज़े को पकड़ने में कोई दिक्कत नहीं हुई।

हालाँकि पूरी फ़िल्म मन्नू और मानवी के इर्द-गिर्द घूमती रहीं लेकिन सपोर्टिंग कैरेक्टर्स ने फ़िल्म में जान डाल दी।

फिर चाहे वो मन्नू के पापा का कैरेक्टर प्ले करने वाले गिरीश धमिज़ा हो या फिर उसकी दोनों बहनें तान्या अबरॉल और सावन रूपावली।

सभी ने फ़िल्म में अच्छा परफॉर्म किया हैं।

म्यूजिक

Chandigarh Kare Aashiqui फ़िल्म का म्यूजिक एल्बम एक फुल पैकेज हैं जिसमें लोकल फ़्लेवर और रोमांस को बराबर प्रस्तुत किया गया हैं।

ये भी पढ़ें:-

लोगों ने म्यूजिक एल्बम को काफी पसंद किया हैं। “खींच ते नाच” और “तुम्बे पे जुम्बा” जहाँ आपको डांस करने पर मजबूर कर सकतें हैं वहीं “कल्ले कल्ले” आपको आपकी एक्स की याद दिला सकता हैं।

फ़िल्म का म्यूजिक सचिन-जिगर और तनिष्क बागची ने दिया हैं।

दिल की बात

फ़िल्म की कहानी टिपिकल बॉलीवुड स्टाइल से हटके हैं जो मुझे बेहद पसंद आई। फ़िल्म में चाहे लव स्टोरी हो या दिल टूटने का गम, सभी सीन्स दिल को छू जाते हैं।

वहीं आयुष्मान खुराना की परफॉर्मेंस ने एक बार फिर से दिल जीत लिया।

और अगर वाणी कपूर की बात करें तो ऐसा लगता हैं मानों उनके अलावा इस कैरेक्टर को प्ले करना किसी ओर एक्ट्रेस के बस की बात नहीं।

बाकी जो चीज मुझे पसन्द नहीं आई वो हैं फ़िल्म का डायरेक्शन।

ये भी पढ़ें:- Tadap Movie Review: अहान शेट्टी, तारा सुथारिया

फ़िल्म की बेहतरीन कहानी होने के बावजूद उसे सही तरीके से प्रस्तुत कर पाने में एक बार फिर से विफल रहे हैं अभिषेक कपूर।

फ़िल्म में जबरदस्ती कॉमेडी घुसाना फ़िल्म के फ्लो को बिगाड़ रहा हैं, वहीं अपनी हीरोइन के प्यार की लड़ाई, जिसे इस फ़िल्म का एक्स फ़ेक्टर होना चाहिए, वो कहीं दब सी जाती हैं।

रेटिंग

तो मेरी तरफ से Chandigarh Kare Aashiqui फ़िल्म को 5 में से 3 स्टार्स मिलेंगे।

एक स्टार फ़िल्म के कॉन्सेप्ट के लिए, चलों हिम्मत तो दिखाई इस तरह की फ़िल्म बनाने की।

दूसरा, आयुष्मान की जबरदस्त एक्टिंग और पंजाबी लहज़ा, साथ में वाणी कपूर की मासूमियत और इस कैरेक्टर को प्ले करने की हिम्मत के लिए।

और तीसरा, फ़िल्म का नपा तुला स्क्रीनप्ले, जो आपको बोरियत से दूर रखकर पूरे 2 घण्टे एंटरटेन करता हैं।

बात करूँ नेगेटिव्ज की, तो एक स्टार कटेगा फ़िल्म को एक साधारण फ़िल्म के तौर पर प्रस्तुत करने वाले मामूली डायरेक्शन के लिए।

दूसरा स्टार, फ़िल्म को एकदम आसान सी बनाएं रखने के लिए, ना तो हमें कोई ट्विस्ट्स देखने को मिले और ना ही ऑडिएंस के दिमाग के साथ खेला गया।

अब अगर कुछ नया, यूनीक और बोल्ड टाइप की मूवी देखने का मन हैं तो चले जाओ थिएटर, वरना ओटीटी की दुनियाँ में कोई दूसरा खजाना ढूँढो।

अगर कुछ कहना हैं हमसे या फिर आप चाहतें हैं कि आपकी मनपसंद मूवी का रिव्यू किया जाए तो आप हमें फ़ेसबुक पर मैसेज कर सकतें हैं।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply