Hum Do Hamare Do Movie Review in Hindi

देखो दोस्त, फ़िल्में मुख्य रूप से दो type की बनती हैं, एक तो दिमाग को हराने के लिए काफ़ी सारे twists and turns के साथ, तो दूसरी दिल को ठंडा करने वाली real life से टेंशन भगाने के लिए।

पहली कैटेगरी में बॉलीवुड के अंदर काफ़ी सारे नाम मिल जाएंगे और हर महीनें 2-3 बढ़िया सस्पेंस थ्रिलर रिलीज़ होना अब आम बात हो चुकी हैं।

लेकिन दुसरी कैटेगरी में हिंदी सिनेमा ज्यादातर फ़ेल हो जाता हैं। फैमिली मूवी में फैमिली नहीं तो कॉमेडी फ़िल्म में कॉमेडी गायब।

इस कैटेगरी में कभी कभार ही ऐसी फिल्में देखने मिलती हैं जो हमें पूरी तरह entertain कर पाती हैं।

लेकिन हाल ही एक नई फ़िल्म रिलीज़ हुई हैं जिसको पूरा परिवार मजे से enjoy कर सकता हैं।

हम दो हमारे दो, नाम सुनके समझ ही गए होंगे कि फ़िल्म का सीधा connection हैं फैमिली प्लानिंग के साथ।

लेकिन जैसा आप सोच रहें हो वैसा कुछ भी नहीं हैं यहाँ परिवार दो से चार तो होगा लेकिन एक नए स्टाइल में, एक छोटे से ट्विस्ट के साथ नए जमाने की कहानी।

तो शुरू करते हैं रिव्यू को में हूँ अमित और आप पढ़ रहें हैं फ़िल्मी बातचीत

Hum Do Hamare Do Movie Review in Hindi

स्टार कास्ट

हम दो हमारे दो में आपको दो जोड़ियाँ सबसे ज्यादा entertain करेगी, जिसमें एक जोड़ी हैं ध्रुव शिखर बावेजा और आन्या मेहरा की।

यहाँ ध्रुव के कैरेक्टर को प्ले कर रहें हैं राजकुमार राव, जो इससे पहले फ़िल्म रूही में हमें दिखाई दिए थे, जबकि आन्या के किरदार में दिखाई देंगी कृति सेनन जो इससे पहले फ़िल्म मिमी में अपनी एक्टिंग की छाप छोड़ चुकी हैं।

दूसरी जोड़ी हैं पुरुषोत्तम मिश्रा और दीप्ति कस्यप की, जहाँ पुरुषोत्तम के किरदार में नजर आएंगे परेश रावल जबकि दीप्ति का कैरेक्टर प्ले कर रहीं हैं रत्ना पाठक शाह

ये भी पढ़ें:- Satyameva Jayate 2 मूवी रिव्यू: हिट या फ़्लॉप?

संदीप भुल्लर उर्फ़ शंटी फ़िल्म में ध्रुव का लँगोटिया यार हैं जिसका किरदार निभा रहें हैं अपारशक्ति खुराना

डॉक्टर संजीव मेहरा और रूपा मेहरा, ये दोनों आन्या के अंकल आंटी हैं क्योंकि आन्या के माँ बाप उसके बचपन में ही चल बसे।

संजीव मेहरा का किरदार निभाया हैं मनु ऋषि चड्ढा ने जबकि रूपा के किरदार में हैं प्राची शाह पांड्या

जोगिंदर अरोड़ा उर्फ़ शादिराम भी इस फ़िल्म में एक दिलचस्प कैरेक्टर हैं जिसे सानंद वर्मा ने प्ले किया हैं।

स्टोरी

हम दो हमारे दो फ़िल्म की कहानी शुरू होती हैं लड़का लड़की से, दोनों एक दूसरे से टकराते हैं और पहली नजर का प्यार, love at first sight, लव स्टोरी शुरू।

फिर क्या बिना वक्त की बर्बादी किये बात सीधा पहुँच जाती हैं शादी ब्याह तक।

ये भी पढ़ें:- Tadap Movie Review: अहान शेट्टी, तारा सुथारिया

लड़की के लिए तन मन धन के अलावा एक चौथी चीज़ जो सबसे ज्यादा जरूरी हैं वो हैं परिवार

और बदकिस्मती से अपने हीरो के पास पहली तीनो चीजें तो हैं लेकिन सरनेम देने वाला कोई नहीं, मतलब अनाथ हैं बिना माँ बाप के।

बस यहाँ से शुरुआत होती हैं “मम्मी पापा ढूँढो और शादी करलो” प्रतियोगिता की।

कुछ दिनों के लिए नकली परिवार का सहारा लेकर असली परिवार बनाने का देशी जुगाड़ जो हमें इस फ़िल्म में देखने को मिलेगा, वो चलता रहता हैं।

अपना हीरो नकली माँ बाप लेकर आ जाता हैं और उनके साथ मिलकर तैयारी शुरू करता हैं बहुरानी को घर लाने की।

यहीं लोग जो अपने हीरो के नकली माँ बाप बनें हैं, इस कहानी में एक बड़ा ट्विस्ट लेकर आएंगे, कैसे? यहीं सोच रहें हैं।

बात ये हैं कि इस फ़िल्म में एक लव स्टोरी में छुपी हैं दूसरी लव स्टोरी, अपने हीरो के नकली माँ बाप असल में आशिक हैं एक दूसरे के वो भी बड़े पुराने।

ये भी पढ़ें:- Bob Biswas Movie Hindi Review: अभिषेक बच्चन

लेकिन इन दोनों में से एक अच्छा, जिसे आप इनकी कहानी का हीरो कह सकतें हैं और एक बुरा हैं यानी विलेन जिसनें इस लव स्टोरी को पूरा ना होने दिया।

देखो बॉस, फ़िल्म की सबसे मजेदार चीज़ हैं कहानी बताने का तरीका

एक लव स्टोरी को पूरी करने की जगह दो स्टोरीज़ को आपस मे जोड़ना, ये कॉन्सेप्ट काफ़ी नया हैं और दिलचस्प भी।

एक टिपिकल बॉलीवुड फ़िल्म की जगह सेंटर में romance और इश्क मोहब्बत को ना घुसाकर उसकी जगह फैमिली परिवार को डालकर एक funny situation को create करना, ये चीज़ आपको फ़िल्म की तरफ़ खींच लेगी।

कुछ फ़िल्में होती हैं ना जिनकों देखकर आप लोग खुश हो जाते हो, उसके अलावा कुछ feel नहीं होता।

दो घण्टे के लिए ही सही इस दुनियाँ से उस दुनियाँ में जाकर पूरा टेंशन भूल जाना, बस वो काम करती हैं ये फ़िल्म।

ये भी पढ़ें:- 83 Movie Review: भारत की पहली वर्ल्डकप ट्रॉफी की कहानी

अगर हम राईटिंग की बात करें तो वो भी कमाल हैं, डॉयलोग्स फालतू में बर्बाद नहीं किए गए हैं romance वगैरह पर। बढ़ा चढ़ा कर चाँद तारे तोड़ने वाली बातें नहीं डाली गई हैं फ़िल्म में।

मजाकिया one liners हैं जिनमें natural हँसी बाहर निकल आती हैं। फ़िल्म में परिस्थितियों को कुछ इस तरह create कर दिया जाता हैं की बिना कुछ बोले भी आप दिमाग में scenes को सोचकर अचानक से हँस पड़ते हो।

वो puzzle वाला game खेला होगा ना आपने, बहुत सारे colors इधर उधर बिखरे पड़े रहते हैं, बस वहीं किस्सा हम दो हमारे दो का भी हैं।

फ़िल्म में इधर उधर भरें हैं बहुत सारे emotions, कॉमेडी भी मिलेगी और प्यार भी मिलेगा जो एकदम real सा feel होगा।

फ़िर अतीत में छुपा एक surprise भी हैं, ये दूसरी वाली लव स्टोरी में actually हुआ क्या था? ये सवाल दिमाग के किसी कोने में बैठा रहेगा last scene तक।

लेकिन हाँ, फ़िल्म देखते वक्त एक चीज थोड़ा ध्यान रखना, अपने दिमाग को 2 घण्टे के लिए छुट्टी पर भेज देना।

ज्यादा लॉजिक लॉजिक खेलने की कोशिश करेंगे तो एक अच्छी खासी मज़ेदार फैमिली फ़िल्म से हाथ धो बैठेंगे।

एक्टिंग और परफॉर्मेंस

एक तो screen पर जब इतना सारा टेलेंट मौजूद हो तो भईया एवरेज़ फ़िल्म को भी पॉवरफुल फ़िल्म बनाने की ताकत अपने आप आ जाती हैं और ये लोग नकली कहानी को भी असली कहानी बना देते हैं।

परेश रावल, ये जनाब हैं इंडियन सिनेमा के सबसे versatile एक्टर, इनकी कॉमेडी टाईमिंग को आजतक कोई beat नहीं कर पाया और आगे भी कोई नहीं कर पायेगा।

इस फ़िल्म का एक्स फ़ेक्टर परेश रावल हैं, इनके छोटे लेक़िन मजेदार डॉयलोग्स हर बार आपके चेहरे पर बड़ी सी हँसी लेकर आएंगे।

ये भी पढ़ें:- Pushpa Movie Review: एक फ़िल्म पड़ी पूरे बॉलीवुड पर भारी

और लव स्टोरी वाला ट्विस्ट इनके कैरेक्टर को आसान ना बनाके उसमें मसाला जोड़ देता हैं।

कृति सेनन, बंदी में दम हैं भईया, मिमी फ़िल्म के बाद इस फ़िल्म में भी अपनी जबरदस्त परफॉर्मेंस को बड़े आराम से बरकरार रख लेती हैं मैडम।

और एक बार फिर से आप इस लड़की के cute looks और तेज डॉयलोग्स पर फिदा होने वाले हो।

राजकुमार राव, साथ में रत्ना पाठक शाह, ये दोनों हैं गिरगिट type एक्टर्स। जैसा मर्जी कैरेक्टर लिखकर दे दो, वैसा ही बनके बाहर निकल आते हैं।

रेटिंग

तो यार मेरी तरफ से हम दो हमारे दो फ़िल्म को 5 में से 4 स्टार्स।

एक स्टार परिवार को प्यार से बढ़कर दिखाने वाले कॉन्सेप्ट को बेहद ही मज़ाकिया तरीके से दिखाने के लिए।

वरना अक्सर मार पीट या जा सिमरन जा type के डॉयलोग्स ही सुनने को मिलते हैं बॉलीवुड में।

एक स्टार natural humor डालने वाले scenes के लिए, हँसी ढूँढनी नहीं पड़ेगी या फिर आप पर कोई जोर जबरदस्ती नहीं कि जाएगी इन डॉयलोग्स पर हँसने को।

एक स्टार दोनों स्टोरी के main कैरेक्टर्स राजकुमार राव -कृति और परेश रावल – रत्ना पाठक, इन चारों की outstanding परफॉर्मेंस के लिए।

ये भी देखें:- Spider Man No Way Home Movie Review: स्पाइडर मैन फैन्स के लिए एक तोहफा

और last एक स्टार funny one liners, intelligent राईटिंग और साथ में उसे execute करने वाली जबरदस्त सपोर्टिंग cast के लिए।

स्पेशली अपारशक्ति खुराना और मनु ऋषि, दोनों कमाल के एक्टर्स हैं।

बात करूँ नेगेटिव्ज की तो आधा स्टार कटेगा कहानी में कुछ कुछ जगह लूप होल्स डालकर लोगों के मन में सवाल छोड़ने के लिए जिनके जवाब हमें खुद से ढूँढना पड़ेगा।

और आधा स्टार ये जो सीनियर लव स्टोरी हैं इसको थोड़ा predictable बनाने के लिए, जैसा सोचा ठीक वैसा ही निकला, अगर कुछ अलग देखने को मिलता तो बॉस मजा आ जाता।

इन छोटी मोटी चीज़ों को side करके इस फ़िल्म को जरूर देख लेना मेरे दोस्त, पूरा पैसा वसूल होगा और परिवार में प्यार भी बढ़ेगा, दोनों चीज़ों की गारंटी मेरी हैं।

इस हफ़्ते ओर क्या देखें?

Dhamaka – कहानी एक TV news एंकर की हैं जो सूट-बूट पहनकर हज़ारों लाखों लोगों को अपने दिमाग से TV screen के उस पार बैठकर कण्ट्रोल कर रहा हैं। मजा आएगा बॉस, इस फ़िल्म को miss मत कीजिएगा।

Chandigarh Kare Aashiqui – एक ओर कमाल की लव स्टोरी वाली फ़िल्म हैं जो प्यार और इमोशन्स के साथ साथ सोशल मैसेज देती हैं। लव स्टोरीज़ देखना पंसद हैं वो भी अलग फ़्लेवर के साथ, तो इसे भी इस हफ़्ते की अपनी watchlist में शामिल कर लो।

Antim – सलमान ख़ान की ये फ़िल्म भले ही बॉक्स ऑफिस पर इतना जलवा ना दिखा पाई हो लेकिन फ़िल्म में राहुल का कैरेक्टर जबरदस्त हैं जो आपको भरपूर entertain भी करता हैं।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply