कश्मीर फाइल्स मूवी रिव्यू । The Kashmir Files Movie Review in Hindi (2022)

21 फरवरी को एक फ़िल्म का ट्रैलर रिलीज़ हुआ था यूट्यूब पर जिसके बाद पूरे हिंदुस्तान में एक क्रांति सी फ़ेल गयी थी, फ़िल्म का नाम था The Kashmir Files जिसे विवेक अग्निहोत्री ने डायरेक्ट किया हैं।

फाइनली 11 मार्च 2022 को इस फ़िल्म को पूरे हिंदुस्तान के सिनेमाघरों में रिलीज़ कर दिया गया हैं।

इसके ट्रैलर का में review नहीं कर पाया लेकिन फ़िल्म The Kashmir Files का review जरूर करूँगा।

वैसे इसे शायद आपको फ़िल्म नहीं बल्कि एक थप्पड़ कहना चाहिए, एक ऐसा जोर का थप्पड़ जो ना सिर्फ उन लोगों पर लगा हैं जो इस फ़िल्म के ख़िलाफ़ हैं बल्कि पूरे बॉलीवुड पर भी लगा हैं।

इस The Kashmir Files review में में इन सबके बारे में बात करूँगा और बताऊँगा की क्यों ये फ़िल्म आपको जरूर देखनी चाहिए?

The Kashmir Files Movie Review in Hindi

The Kashmir Files Cast (स्टार कास्ट)

  • मिथुन चक्रवर्ती – बह्मा दत्त (आईएएस)
  • अनुपम खैर – पुष्कर नाथ पंडित
  • दर्शन कुमार – कृष्णा पंडित
  • पल्लवी जोशी – राधिका मेनन
  • चिन्मय मण्डलेकर – फ़ारुख अहमद दर
  • प्रकाश बेलावड़ी – डॉक्टर महेश कुमार
  • पुनीत इसर – डीजीपी हरि नारायण
  • भाषा सुम्बली – शारदा पंडित
  • सौरव वर्मा – अफ़ज़ल
  • मृणल कुलकर्णी – लक्ष्मी दत्त
  • अतुल श्रीवास्तव – विष्णु राम
  • अमान इकबाल – करण पंडित
  • पृथ्वीराज सरनाईक

The Kashmir Files Details (जानकारी)

  • डायरेक्टर – विवेक अग्निहोत्री
  • राईटर्स – विवेक अग्निहोत्री, सौरभ एम पांडे
  • प्रोड्यूसर – तेज नारायण अग्रवाल, अभिषेक अग्रवाल, पल्लवी जोशी, विवेक अग्निहोत्री
  • सिनेमेटोग्राफी – उदयसिंह मोहिते
  • म्यूजिक – रोहित शर्मा, स्वप्निल बांधोड़कर
  • रिलीज़ डेट – 11 मार्च 2022
  • रनिंग टाइम – 170 मिनट

The Kashmir Files Rating: 5

The Kashmir Files Story in Hindi (कहानी)

The Kashmir Files एक फ़िल्म नहीं एक हक़ीक़त हैं जो 1990 में कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचारों को पर्दे पर दिखाती हैं।

फ़िल्म The Kashmir Files की कहानी एक बड़ी कॉलेज में पढ़ने और मॉर्डन विचार रखने वाले स्टूडेंट लीडर कृष्णा की हैं जो राजनीति में काफ़ी दिलचस्पी रखता हैं।

इनकी एक गुरु भी हैं जो ये मानती हैं की कश्मीर पर बरसों से बड़े ज़ुल्म होते आ रहें हैं, इनका सिर्फ एक ही मकसद हैं, फ्री कश्मीर, आज़ाद कश्मीर।

अब कृष्णा अपने घर यानी कश्मीर वापस आ गए हैं जहाँ उन्हें एक नया शब्द सुनने को मिलता हैं, कश्मीरी पंडित।

अब कश्मीर में इन कश्मीरी पंडितों के अलावा कुछ अल्पसंख्यक समुदाय भी रहतें हैं जिन्हें ये लगता हैं कि ये कश्मीरी पंडित उन पर ज़ुल्म करतें हैं।

तो बस, ये अल्पसंख्यक समुदाय इन कश्मीरी पंडितों के ख़िलाफ़ खड़े हो जाते हैं।

देखों दोस्त, मैंने आज तक ऐसी कोई फ़िल्म नहीं देखी जिसके शुरू होने से पहले ही थिएटर में बैठी ऑडिएंस वंदे मातरम के नारे लगाने लगी हो।

जिस थिएटर में मैंने ये फ़िल्म देखी, आप यक़ीन नहीं करोगे लेकिन उसकी सीढ़ियों पर भी लोग बैठे थे, इसी दिन एक ओर मोस्ट अवेटेड फ़िल्म रिलीज़ हुई थी Radhe Shyam, लेकिन उसे लेकर इतना क्रेज नहीं था।

ये भी पढ़ें:- Radhe Shyam movie review

The Kashmir Files फ़िल्म को लेकर लोग पागल थे, उन्हें देखकर ऐसा लग रहा था जैसे मानों ये कोई फ़िल्म नहीं बल्कि उनकी ज़िंदगी का ही एक आईना हैं।

पहली बार किसी थिएटर से निकलने वाले लोगों की आंखों में सिर्फ आँसू देखें थे मैंने जो दर्शाता हैं कि फ़िल्म कैसी हैं और इसके क्या मायने हैं?

सन 1990 में कुछ अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने कश्मीर में रहने वाले पंडितों को 2 विकल्प दिए, या तो वो धर्म परिवर्तन कर लें या फिर कश्मीर छोड़कर भाग जाएं।

इसलिए कुछ लोग कश्मीर छोड़कर भाग गए जबकि सैंकड़ो लोग मारे गए, औरतों और लड़कियों के साथ बलात्कार हुआ।

The Kashmir Files फ़िल्म इन्ही लोगों की ज़िंदगी को बताती हैं, इनके ऊपर जो अत्याचार हुए और किस तरह उन्हें उनके ही घर से घसीटकर बाहर भगा दिया गया।

फ़िल्म The Kashmir Files पूरे हिंदुस्तान को दो भागों में बांटती हैं।

एक वो लोग जो सच्चाई जानना चाहते हैं 1990 के उस दौर की जब कश्मीरी पंडितों को भगाया गया और एक वो लोग जो अभी भी उसी चश्में के साथ जीना चाहते हैं जिसको पहनाकर आज़ाद देश के सबसे बड़े अन्याय को छिपा दिया गया।

ये भी पढ़ें:- Best Bollywood Action Movies

फ़िल्म The Kashmir Files से उन लोगों को तो दूर ही रहना चाहिए जिन्हें सच्चाई देखना और सुनना पसंद नहीं हैं।

फ़िल्म में आपको 1990 के कुछ वास्तविक वीडियोज भी देखने को मिलेंगे जो इस घटना को आपके दिलों में ओर अंदर तक गहरा कर देंगे।

The Kashmir Files Review: एक्टिंग

फ़िल्म के लीड कैरेक्टर हैं कृष्णा पंडित जिसका किरदार निभाया हैं दर्शन कुमार ने।

अगर अभी तक आप इन जनाब के फैन नहीं हुए तो अब हो जाओगे।

एक बार फिर कमाल की परफॉर्मेंस।

ये वो किरदार हैं जो मुझे और आपको इस फ़िल्म में प्रस्तुत करता हैं।

दर्शन कुमार इस किरदार के द्वारा हर वो कन्फ्यूजन दिखाते हैं हर वो तनाव जो में और आप महसूस कर सकतें हैं।

जहाँ वो शुरू में प्रोफेसर की बातों से एकदम उलझ सा जाता हैं और फिर जब उसे चीजें समझ आना शुरू होती हैं तो जो आगे होता हैं वो तो खैर आपको फ़िल्म देखने पर पता चलेगा लेकिन ये रोल वाकई क़ाबिल-ए- तारीफ़ हैं।

ये भी पढ़ें:- Love Hostel movie review

अनुपम खैर, ये वो नाम हैं जिसका बॉलीवुड में कोई मुकाबला नहीं।

इस फ़िल्म में अनुपम खैर साहब की परफॉर्मेंस शायद आपको उनकी ज़िंदगी की सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस लगे।

अनुपम खैर ने इस फ़िल्म में पुष्कर नाथ पंडित का किरदार निभाया हैं।

एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि इस रोल को निभाने के दौरान हर scene करते समय वो रोये थे और ये उनके किरदार में भी दिखता हैं।

आपको फ़िल्म The Kashmir Files में शायद अनुपम खैर साहब ना दिखे, आपको दिखेगा वो इंसान जो सताया गया हैं, जिस पर ज़ुल्म किये गए हैं और जिसे उसके ही घर से उसकी ही जन्म भूमि से बाहर फेंक दिया गया।

पल्लवी जोशी, चिन्मय मण्डलेकर और सौरव वर्मा भी कुछ ऐसे नाम हैं जिनसे आप इस फ़िल्म को देखने के बाद नफ़रत करने लगोगे।

इन तीनों कलाकारों ने अपने किरदारों को इस शिद्दत से निभाया हैं कि आप इनसे नफ़रत करने लगोगे, इनकी सोच से आपको बदबू आने लगेगी।

ये भी पढ़ें:- Collar Bomb movie review

इसके अलावा मिथुन चक्रवर्ती, प्रकाश बेलावड़ी, अतुल श्रीवास्तव और पुनीत इसर जैसे सपोर्टिंग कैरेक्टर्स इस फ़िल्म की जान हैं।

ये सभी मिलकर 1990 में हुए जेनोसाइड की व्याख्यां को बयां करते हैं।

The Kashmir Files Review: क्या अच्छा क्या बुरा?

The Kashmir Files 2022 की शायद ऐसी पहली फ़िल्म होगी जिसमें मुझे कोई कमी नहीं लगी।

ऐसा इसलिए नहीं कि इसे देखने के बाद इमोशन्स कण्ट्रोल नहीं हो पा रहें बल्कि इसलिए कि इसे वाकई बेहतरीन तरीके से बनाया हैं।

इसे अगर हम सिर्फ एक फ़िल्म के तौर पर भी देखें तो ये भी इसमें वो सब कुछ हैं जो हम एक अच्छी फ़िल्म से उम्मीद करतें हैं।

इसमें ऐसा एक भी पल नहीं जब आप इससे बोर होने लगो, हर वक्त आप इस फ़िल्म से खुद को जुड़ा हुआ महसूस करोगे।

एक अच्छी फिल्म की यहीं तो खासियत होती हैं।

हालांकि कुछ लोगों को शायद The Kashmir Files फ़िल्म के रनिंग टाइम से शिकायत हो सकती हैं क्योंकि फ़िल्म 2 घण्टे 50 मिनट की हैं।

लेकिन यक़ीन मानिए फ़िल्म का स्मार्ट डायरेक्शन इस लम्बाई को भी जस्टिफाई करता हैं और आपको फ़िल्म के क्लाइमेक्स तक बाँधे रखता हैं।

फ़िल्म The Kashmir Files को लेकर ये मेरा पर्सनल ओपिनियन था, कॉमेंट्स में आप मुझे अपने विचार जरूर बताएं।

वैसे अगर आपने The Kashmir Files फ़िल्म देख ली तो अपना review कॉमेंट्स में जरूर बताएं और अगर नहीं देखी तो क्या आप इसे थिएटर में देखने जाएंगे?

The Kashmir Files Review: FAQ’s

फ़िल्म The Kashmir Files किस पर आधारित हैं?

1990 में कश्मीर में पंडितों पर अत्याचार किया गया था, उन्हें बड़ी बेरहमी से मारा गया था और कश्मीर से भगा दिया गया था, फ़िल्म The Kashmir Files इसी घटना पर आधारित हैं।

क्या फ़िल्म The Kashmir Files वास्तविक कहानी पर बनी हैं?

हाँ, सालों पहले हुए कश्मीरी पंडित जेनोसाइड पर यह फ़िल्म बनी हैं जो real story हैं।

फ़िल्म The Kashmir Files कब रिलीज़ हुई?

इसे 11 मार्च 2022 को थिएटर्स में रिलीज़ किया गया हैं। हालांकि पहले इसे 26 जनवरी 2022 को रिलीज़ करना था लेकिन ऑमिक्रोन वायरस के चलते इसकी रिलीज़ डेट को खिसखा दिया गया था।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply