Murder At Teesri Manzil 302 Zee5 Movie Hindi Review: इरफ़ान खान

कुछ मूवीज़ ऐसी होती हैं जो बिना किसी कारण के ठंडे बस्ते में चली जाती हैं या फिर कारण ऐसे रहते हैं जो की दुनियाँ को बताए नहीं जा सकतें।

एक ऐसी ही मूवी क़रीब 14 साल बाद रिलीज़ हो रहीं हैं। इस मूवी की ख़ास बात सिर्फ़ ये नहीं हैं कि इसे इतने सालों बाद रिलीज़ किया जा रहा हैं बल्कि सबसे ख़ास बात ये हैं कि ये लेट एक्टर इरफ़ान खान की फ़िल्म हैं।

आप उनकी ये आख़िरी मूवी भी कह सकतें हैं जो की ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ होगी।

29 अप्रैल 2020 को अचानक इनका निधन हो गया था जिसके बाद पूरी दुनियाँ ने शोक मनाया था, क्योंकि ये हॉलीवुड में भी अपनी एक्टिंग का लोहा मनवा चुके हैं।

तो इनकी एक मूवी हैं, मिस्ट्री थ्रिलर जॉनर पर आधारित, जो कि ओटीटी प्लेटफॉर्म Zee5 पर रिलीज़ हुई हैं, जिसका नाम हैं Murder At Teesri Manzil 302, नाम थोड़ा अजीब हैं लेकिन हम नाम की नहीं काम की बात करने वाले हैं।

20 महीनें बाद दिवंगत अभिनेता इरफ़ान खान को देखना वाकई में दर्शकों को सुकून दिलाएगा।

इस फ़िल्म का निर्देशन नवनीत बाज सैनी ने किया हैं।

आज के इस ब्लॉग में हम इसी मूवी का रिव्यू करेंगे और पता करेंगे कि क्या फ़िल्म मेकर्स का इसे 14 साल बाद रिलीज़ करने का फ़ैसला सही हैं?

Murder At Teesri Manzil 302 Review in Hindi

Murder At Teesri Manzil 302 Hindi Review: स्टोरी और सब कुछ

Murder At Teesri Manzil 302 फ़िल्म की कहानी एक बिजनेसमैन की हैं जिसकी पत्नी लापता हो जाती हैं। फ़िल्म में बिजनेसमैन का किरदार रणवीर शौरी ने निभाया हैं।

इनकी पत्नी को ढूढंने की जिम्मेदारी तेजिंदर सिंह यानी लकी अली के जिम्मे सौंपी जाती हैं।

ये भी पढ़ें:- Bob Biswas Movie Hindi Review: अभिषेक बच्चन

इस क्राइम थ्रिलर फ़िल्म में कई ट्विस्ट्स और टर्न्स हैं जिसमें दर्शक अनुमान लगाते हैं की माया (बिजनेसमैन की पत्नी) का अपहरण किया गया हैं या फिर उसकी हत्या की गई हैं।

या फिर हो सकता हैं कि वो किसी बड़ी साज़िश का हिस्सा बन चुकी हैं।

फ़िल्म में इरफ़ान खान चाँद नाम का किरदार निभा रहें हैं जो खुद इस साजिश से कहीं ना कहीं जुड़े हुए हैं।

इस फ़िल्म की स्टोरी थोड़ी कमजोर हैं लेकिन फिर भी दर्शकों को बाँधे रखती हैं।

ये भी पढ़ें:- 83 Movie Review: भारत की पहली वर्ल्डकप ट्रॉफी की कहानी

जैसे जैसे फ़िल्म आगे बढ़ती हैं कहानी की एक एक परत खुलती जाती हैं और आपको सब कुछ धीरे धीरे समझ आने लगता हैं।

कहानी को लिखावट काफी कमजोर होने के चलते सभी कैरेक्टर्स फीके नजर आते हैं।

इसके अलावा फ़िल्म में पुलिस द्वारा किये गए मज़ाक भी बेमाने से लगते हैं और कहीं ना कहीं ये सब स्क्रीन पर देखकर आपके दिमाग मे ये जरूर आएगा कि ये फालतू का क्या चल रहा हैं।

फ़िल्म में इरफ़ान खान के वन लाइन बातें आपको जरूर अच्छी लगेंगी। उन्होंने अपने किरदार को हमेशा की तरह बखूबी निभाया हैं।

ये भी पढ़ें:- Pushpa Movie Review: एक फ़िल्म पड़ी पूरे बॉलीवुड पर भारी

हालांकि इरफ़ान के साथ दीपल का रोमांस इतना प्रभावी नहीं लगता हैं।

दीपल के किरदार को लिखते समय ही कई खामियाँ हैं। कई बार उनकी एक्टिंग थोड़ी ओवर लगती हैं।

इसके अलावा, लकी अली ना तो फनी लग रहें हैं और ना ही पूरी तरह से पुलिस वाले का किरदार निभा पाएं हैं।

फ़िल्म मेकर्स ने थाईलैंड की लोकेशन्स को कवर करने वाली सिनेमेटोग्राफी में खूबसूरत का काम किया हैं।

फ़िल्म के गाने आपको याद नहीं रहेंगे इसलिए गानों को हम अच्छा कह नहीं सकतें।

ये भी पढ़ें:- Aranyak Web Series Review: नेटफ्लिक्स का असुर

करीब 126 मिनट की ये फ़िल्म हैं जिसे बेवज़ह ही खींचा गया हैं।

Murder At Teesri Manzil 302 फ़िल्म आपको इरफ़ान खान की यादों में गोते खाने को मजबूर करती हैं।

लेकिन ये ऐसी फिल्म नहीं हैं जिसे आप याद रखना चाहेंगे।

आप इसकी जगह पर द लंच बॉक्स, पीकू, मकबूल जैसी फिल्में एक बार फ़िरसे देख सकतें हैं।

ये भी पढ़ें:- Atrangi Re Movie Review: धनुष की लाजवाब ऐक्टिंग का तड़का

अब सवाल ये आता हैं कि आपको ये मूवी देखनी चाहिए या नहीं?

अगर आप इरफ़ान खान के बहुत बड़े फैन हैं, मेरी तरह, तो इस फ़िल्म को आपको जरूर देखना चाहिए।

हालाँकि फ़िल्म को ना देखने के कई कारण हैं। फ़िल्म के गाने इसे देखने के बाद याद नहीं रहने वाले, राईटर ने कहानी के किरदारों को ठीक से नहीं लिखा हैं, जिसके कारण स्क्रीन पर उनका अभिनय बेहद कमजोर लगता हैं।

फ़िल्म का जो क्लाइमेक्स हैं, वो भी बेहद सिंपल हैं जिसका हम पहले ही अनुमान लगा लेते हैं, इसमें कुछ नयापन नहीं हैं।

ये भी पढ़ें:- Tadap Movie Review: अहान शेट्टी, तारा सुथारिया

मतलब ऐसा नहीं हैं कि मिस्ट्री मूवी होने के चलते फ़िल्म का एन्ड देखकर आप एकदम से चोंक जाएंगे।

तो अगर आप Murder At Teesri Manzil 302 फ़िल्म से ऐसी कुछ भी उम्मीद कर रहें हैं तो ना करें।

लेकिन अगर आप इरफ़ान खान को एडमायर करते हैं तो आपको इस फ़िल्म को जरूर देखना चाहिए

इस फ़िल्म को में कोई रेटिंग नहीं देना चाहूँगा क्योंकि ये दिवंगत अभिनेता इरफ़ान खान की आख़िरी रिलीज़ होने वाली फ़िल्म हैं।

लेकिन अगर आपने इसे देखा हैं तो आप नीचे कमेंट्स में जरूर बताएं कि आपको ये फ़िल्म कैसी लगी?

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply