Radhe Shyam Movie Review in Hindi (2022)

तो फाइनली द मोस्ट अवेटेड फ़िल्म Radhe Shyam थिएटर्स में रिलीज़ हो गयी हैं।

पिछले काफ़ी वक्त से सिनेमा लवर्स को इस फ़िल्म का इंतज़ार था जो आज जाकर ख़तम हुआ हैं।

प्रभास स्टारर फ़िल्म Radhe Shyam का जब ट्रैलर रिलीज़ हुआ था तो इस फ़िल्म को टाइटेनिक से compare किया गया था।

अब जब फ़िल्म रिलीज़ हो गयी हैं तो क्या हैं हक़ीक़त? और फ़िल्म Radhe Shyam कैसी हैं? क्या इस पर हमें पैसे लगाने चाहिए या फिर ओटीटी पर रिलीज़ होने का इंतज़ार करना चाहिए?

बस इस Radhe Shyam review में में आपको इन्हीं सब सवालों के जवाब देने वाला हूँ।

Radhe Shyam Movie Review in Hindi

Radhe Shyam Cast (स्टार कास्ट)

  • प्रभास – विक्रमादित्य (पाल्मिस्ट)
  • पूजा हेगड़े – प्रेरणा (डॉक्टर)
  • सत्याराज – परमहमसा (कन्नड़, तमिल, हिंदी)
  • कृष्णम राजू – परमहमसा (तेलुगू)
  • भाग्यश्री
  • जगपती बापू
  • सचिन खेडेकर
  • प्रियदर्शी
  • मुरली शर्मा
  • कुणाल रॉय कपूर
  • रिद्धि कुमार
  • सत्यान
  • जयराम
  • फ़्लोरा जैकब – इंदिरा गांधी
  • साशा छेत्री

Radhe Shyam Details (जानकारी)

  • डायरेक्टर – राधा कृष्ण कुमार
  • राईटर – राधा कृष्ण कुमार
  • प्रोड्यूसर – भूषण कुमार, वामसी, प्रमोद, प्रसीधा
  • सिनेमेटोग्राफी – मनोज परमहमसा
  • रिलीज़ डेट – 11 मार्च 2022
  • रनिंग टाइम – 138 मिनट
  • बजट – 300 – 350 करोड़

Radhe Shyam Rating (रेटिंग): 2.5

Radhe Shyam Story (कहानी)

फ़िल्म Radhe Shyam की कहानी विक्रमादित्य नाम के एक ऐसे इंसान की हैं जो पाल्मिस्ट्री यानी हस्तरेखा शास्त्र का आइंस्टाइन हैं।

विक्रमादित्य किसी का भी हाथ देखकर उसका भविष्य उसके सामने एक किताब की तरह खोलकर रख देते हैं यहाँ तक कि उन्होंने भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का भी हाथ देखकर आने वाले इमरजेंसी के बारे में बता दिया था।

ये भी पढ़ें:- Best Bollywood Action Movies

वो बात अलग हैं कि इसके बाद वो देश छोड़कर चले गए लेकिन ये आदमी खास हैं, खास भी इतना कि इसके पास कुछ स्पेशल पॉवर हैं।

फ़िल्म Radhe Shyam का दूसरा हिस्सा हैं प्रेरणा जो कि एक डॉक्टर हैं और इनका किरदार निभाया हैं पूजा हेगड़े ने।

ये बला की खूबसूरत लगी हैं इस फ़िल्म में, जब भी इनका scene आता हैं तो बस आपका मन करेगा कि ये scene बस यूँही चलता रहें।

pooja hegde in radhe shyam

विक्रमादित्य प्रेरणा के हाथ देख चुके हैं और उन्हें उनके हाथ में वो नजर आ चुका हैं जिसे वो खुद भी नहीं बदल सकते।

विक्रमादित्य के अनुसार प्रेरणा काफ़ी लम्बा जिएगी लेकिन प्रेरणा ये मानने को तैयार नहीं हैं और वो कई बार मरने की कोशिशें भी कर चुकी हैं।

इस फ़िल्म में वैसे तो ओर भी कई कलाकार हैं लेकिन पूरी फ़िल्म सिर्फ इन दोनों के इर्दगिर्द ही बुनी गई हैं।

फ़िल्म Radhe Shyam एक रोमांटिक ड्रामा फ़िल्म हैं जिसका इंतज़ार पूरा हिंदुस्तान बड़ी ही बेसब्री से कर रहा था लेकिन इसकी कहानी में वो दम नहीं जो इसे 2022 की best romantic movie बना दे।

में खुद प्रभास के उन फैंस में से हूँ जिन्हें इस फ़िल्म का इंतज़ार सबसे ज्यादा था लेकिन हमें इस सब्र का फल काफ़ी कड़वा मिला।

आपको फ़िल्म Radhe Shyam देखकर ऐसा लगेगा जैसे ये कहानी हम कई दफा बॉलीवुड की बाकी फ़िल्मों में भी देख चुके हैं।

फ़िल्म की कहानी राधा कृष्ण कुमार ने लिखी हैं लेकिन ना इसका कोई सिर हैं और ना ही पैर।

मुझे फ़िल्म देखने के बाद एक चीज़ सबसे ज्यादा परेशान कर रहीं हैं कि जब फ़िल्म की कहानी इतनी साधारण हैं तो इस पर 350 करोड़ का बजट लगाने का क्या फायदा?

फ़िल्म को आप बड़ा बोलकर नहीं बेच सकतें क्योंकि प्रभास वो कलाकार हैं जिनसे लोगों के इमोशन्स जुड़ चुके हैं।

Radhe Shyam Review: म्यूजिक

फ़िल्म में कुल 4 गाने हैं जो वाकई कानों को सुकून देते हैं।

फ़िल्म के तेलुगू और हिंदी वर्जन में अलग अलग म्यूजिक दिया गया हैं जहाँ हिंदी वर्जन का म्यूजिक मिथुन और मनन भारद्वाज ने दिया हैं वहीं तेलुगू वर्जन का म्यूजिक जस्टिन प्रभाकर्णन ने दिया हैं।

आशिक़ी आ गयी और जान हैं मेरी जैसे गानों ने वाकई लोगों के दिलों पर राज किया हैं।

Radhe Shyam Review: परफॉर्मेंस

फ़िल्म Radhe Shyam की पूरी स्टार कास्ट में अगर मुझे किसी एक कलाकार का नाम लेने को कहा जाए जिसने सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस दी हैं तो में पूजा हेगड़े का नाम लेना चाहूँगा।

बंदी फ़िल्म में ना सिर्फ स्वर्ग की किसी परी के जैसे लगती हैं बल्कि कमाल की एक्टिंग भी करती हैं।

पूजा हेगड़े आपको हर scene में अपने करीब लाते जाएगी और आप बस उसे और उसकी परफॉर्मेंस की तारीफें करते जाओगे।

प्रभास जिनकी साहो के बाद ये दूसरी फिल्म हैं, उन्होंने भी अच्छी परफॉर्मेंस दी लेकिन उतना प्रभाव नहीं डाल पाए जितनी कि उम्मीद की जा रहीं थी।

सबसे मुश्किल रहीं उनकी आवाज़ क्योंकि उन्हें हिंदी में डॉयलोग्स बोलने में काफ़ी परेशानी हो रहीं थी जिसके कारण डॉयलोग्स का जो प्रभाव होना चाहिए था वो ख़त्म सा हो गया।

बाकी फ़िल्म के सपोर्टिंग कास्ट ने ठीक परफॉर्मेंस दी, हालांकि कुछ किरदारों को पूरी तरह से इस्तेमाल नहीं किया गया लेकिन ओवरऑल सपोर्टिंग कास्ट काफ़ी अच्छी थी।

Radhe Shyam Review: क्या अच्छा क्या बुरा?

अब बारी उन बातों के बारे में बात करने की जिन्होंने Radhe Shyam फ़िल्म को अच्छा भी बनाया और बुरा भी।

ज्यादातर ऑडिएंस थिएटर से निकलने के बाद मुझे मायूस ही नजर आई, उन लोगों की संख्या बेहद कम थी जो हँसते हुए थिएटर से बाहर निकले।

फ़िल्म Radhe Shyam की सबसे बड़ी कमी रहीं इसकी कमजोर कहानी।

फ़िल्म में आपको कोई स्पेशल कहानी देखने को नहीं मिलेगी।

आप जब इतने बड़े बजट की फ़िल्म बना रहे हैं तो आपकी जिम्मेदारी हैं कि हम ऑडिएंस को अच्छी कहानी देखने को दी जाए।

हम पैसे देकर थिएटर में एक ही चीज़ को बार बार देखने नहीं जाते बल्कि कुछ खास कुछ यूनिक देखने जाते हैं जो दिल को सुकून दे, जैसा अल्लु अर्जुन की फ़िल्म Pushpa ने किया था।

उसमें कुछ स्पेशल था यूनिक था जो ऑडिएंस को अंत तक बाँधे रखा।

फ़िल्म Radhe Shyam का दूसरा कमजोर पॉइंट हैं इसका VFX, जब फ़िल्म का ट्रैलर रिलीज़ हुआ तो हमें इसके VFX की कुछ झलक देखने को मिली थी।

मुझे इसे लेकर सिर्फ एक बात का डर था कि कहीं VFX कमजोर ना निकले और वहीं हुआ।

आपको कई जगह खराब VFX देखने को मिलेगा जो फ़िल्म के अनुभव को ख़राब करता हैं।

फ़िल्म Radhe Shyam में प्रभास ने सभी डॉयलोग्स खुद से बोले हैं, अब जब उन्हें पता हैं कि उनका हाथ हिंदी में थोड़ा तंग हैं तो फ़िल्म बाहुबली की तरह डबिंग आर्टिस्ट का सहारा क्यों नहीं लिया गया।

ये भी पढ़ें:- Jhund movie review

जब प्रभास डायलॉग बोलते हैं तो उसका प्रभाव एकदम ख़त्म हो जाता हैं, ऐसा लगता हैं मानों सिर्फ रिहर्सल चल रहीं हो।

फ़िल्म के कमजोर होने के पीछे डबिंग आर्टिस्ट का इस्तेमाल ना करना एक बड़ी वजह हैं।

फ़िल्म में पाल्मिस्ट्री का ट्विस्ट वाकई कमाल का था लेकिन उसे उस कदर इस्तेमाल नहीं कर पाएं जो फ़िल्म को अलग लेवल पर खड़ा कर सकता था।

हालाँकि इन सब बुरी बातों के अलावा फिल्म Radhe Shyam में कुछ अच्छी बातें भी हैं जो मुझ जैसे प्रभास फैन के जख्मों पर दवा का काम करती हैं।

फ़िल्म की सबसे अच्छी चीज़ हैं इसकी सिनेमेटोग्राफी।

आप फ़िल्म के हर विसुअल्स को सिर्फ निहारते रह जाओगे और वो कब आपके दिल में उतर जाएंगे आपको पता भी नहीं चलेगा।

ये विजुअल्स इतने कमाल के हैं कि आप इन्ही की वजह से पुरी फ़िल्म देखते चले जाओगे।

फ़िल्म में म्यूजिक और एक्टर्स की परफॉर्मेंस भी कमाल की हैं जो थोड़ी राहत प्रदान करती हैं।

अब बारी उन सवालों के जवाब देने की जो मैंने ब्लॉग के शुरुआत में बताए थे।

अगर आप प्रभास के कट्टर फैन हैं तो अभी टिकट बुक करें और फ़िल्म देखें वरना मेरा सुझाव होगा कि फ़िल्म के ओटीटी पर रिलीज़ होने तक इंतज़ार करें और फिर देखें।

वैसे अगर आप इसे ना भी देखेंगे तो उतना बुरा नहीं लगेगा।

फ़िल्म Radhe Shyam को लेकर ये मेरा पर्सनल opinion हैं, आप इस बारे में क्या सोचते हैं? मुझे नीचे कॉमेंट्स में जरूर बताएं।

साथ ही, आप फ़िल्म Radhe Shyam को कहाँ देखोगे? थिएटर में या ओटीटी पर।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply