रंजिश ही सही वूट वेब सीरीज़ रिव्यू: महेश भट्ट की जिंदगी पर आधारित

एक मशहूर और खूबसूरत औरत जो एक ऐसे डायरेक्टर के पीछे ज़ुनूनी थी जो एक हिट फ़िल्म देने को बेताब था।

कुछ सुना सुना लगा? बेशक लगा होगा।

ये ठीक वैसा ही हैं जैसा 1982 की फ़िल्म अर्थ में था और उसके बाद कई ओर फिल्मों में भी। अर्थ महेश भट्ट की सम्भवतः सबसे बेहतरीन फिल्मों में से एक हैं।

रंजिश ही सही महेश भट्ट की जिंदगी पर बनी एक सीरीज़ हैं जिसमें ऐसा कुछ स्पेशल नहीं जो कभी अखबारों में छपा नहीं होगा।

खैर, इस वेब सीरीज़ के मुख्य कलाकार हैं ताहिर राज भसीन जिन्होंने शंकर नाम का कैरेक्टर प्ले किया हैं।

उनके साथ इस सीरीज़ में रोमांस कर रहीं हैं दो कलाकार – अमाला पॉल और अमृता पूरी जो आमना परवेज और अंजू नाम के किरदार प्ले कर रहीं हैं।

अमृता पूरी जहाँ शंकर की पत्नी बनी हैं वहीं अमाला पॉल सीरीज़ में ‘बाहरवाली’ के किरदार में दिखाई देंगी।

रंजिश ही सही वेब सीरीज़ को 13 जनवरी से Voot ऐप पर स्ट्रीम के लिए उपलब्ध करवा दिया गया हैं, और इस सीरीज़ में कुल 8 एपिसोड्स हैं।

Ranjish Hi Sahi Web Series Review in Hindi

ranjish hi sahi web series review in hindi

कहानी

रंजिश ही सही सीरीज़ की कहानी एक ऐसे डायरेक्टर की हैं जो एक हिट फ़िल्म देने के लिए बेताब हैं।

वो अपनी फिल्मों को हिट बनाने के लिए दिन रात मेहनत कर रहा होता हैं तभी उसकी जिंदगी में एक हसीन मोड़ आता हैं – आमना परवेज।

ये एक बहुत बड़ी और फ़ेमस हीरोइन हैं जिसे शंकर अपनी फ़िल्म में लीड एक्ट्रेस के तौर पर कास्ट करता हैं।

बस यहीं से शुरू होती हैं शंकर और आमना परवेज की लव स्टोरी।

वैसे आपको बता दूँ की शंकर पहले से शादीशुदा हैं और उसकी बीवी के किरदार का नाम हैं अंजू – जो शंकर को सिर्फ अपने काम पर फोकस करने को कहती हैं और घर संभालने की जिम्मेदारी खुद लेती हैं।

शायद यहीं वजह रहीं की अंजू सिर्फ घर सम्भालती रह गयी और शंकर किसी ओर को दिल दे बैठा।

सीरीज़ की कहानी में इससे ज्यादा कहने को कुछ हैं नहीं, ये सिर्फ एक लव ट्राइएंगल हैं जो शंकर, आमना परवेज और अंजू के बीच घूम रहा हैं।

में इतनी डिटेल में बताना नहीं चाहता लेकिन जब सीरीज़ का पहला एपिसोड देखा तो हमनें कहानी को शंकर के नजरिए से देखा।

और जब दूसरा एपिसोड शुरू हुआ तो वहीं कहानी आमना परवेज के नजरिए से दिखाई गई। मुझे समझ नहीं आ रहा कि एक ही कहानी को दो बार क्यों दिखाया जा रहा हैं।

शायद डायरेक्टर्स को लगता हैं कि हम ऑडिएंस फालतू बैठे हैं जिनके पास ओर कोई काम नहीं हैं।

मैंने उसके बाद एक एपिसोड ओर देखने की हिम्मत दिखाई लेकिन तीसरा एपिसोड ख़त्म होते होते मेरी हिम्मत जवाब दे गई।

ये भी पढ़ें:- Matsya Kaand वेब सीरीज़ रिव्यू: चोर, पुलिस और महाभारत

मेरी ओर हिम्मत ही नहीं हुई कि में इस सीरीज़ को पूरी कर पाऊँ, आप एक ही कहानी को बार बार नहीं देख सकतें और वो भी ऐसी कहानी जिसे देखने में आप दिलचस्पी ही नहीं रखतें।

महेश भट्ट को ये समझना होगा कि आज की पीढ़ी को उनकी ज़िंदगी में क्या हुआ? इससे कोई मतलब नहीं हैं।

आज जब हर कोई एवेंजर्स, स्पाइडर मैन और बैटमैन जैसी फिल्मों के पीछे दीवाने हैं तो रंजिश ही सही जैसी सीरीज़ को क्यों देखना चाहेंगे?

महेश भट्ट ने अर्थ फ़िल्म बनाकर अपनी पीढ़ी के लोगों को अपनी जिंदगी के बारे में दिखा दिया अब उन्हें अपनी जिंदगी से ऊपर उठकर कुछ नया सोचना होगा जो आज की ऑडिएंस को पसन्द आए।

अब तो ऐसा लगने लगा हैं कि वाकई में बॉलीवुड के पास शायद कहानियों की कमी हो गयी हैं जो एक ही चीज को बार बार रिपीट किये जा रहें हैं।

यहीं सब चलता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब साउथ इंडस्ट्री बॉलीवुड से कहीं आगे निकल चुकी होगी।

ईमानदारी से कहूँ तो सीरीज़ के कुछ सीन्स को छोड़ दिया जाए तो इसमें देखने के लिए कुछ नहीं हैं।

में अगर रंजिश ही सही सीरीज़ को एक ऐसे व्यक्ति के नजरिए से देखूँ जिसे महेश भट्ट की ज़िंदगी के बारे में कुछ नहीं पता तो उसके लिए यह एक एवरेज सीरीज़ हो सकती हैं, जिसे वो शायद एक बार देख भी ले।

ये भी पढ़ें:- Campus Diaries MX Player वेब सीरीज़ रिव्यू: हर्ष बेनीवाल, ऋत्विक साहोरे

लेकिन अगर वो व्यक्ति जिसनें अर्थ फ़िल्म भी देखी हैं और महेश भट्ट की ज़िंदगी के बारे में भी पता हैं तो निश्चित रूप से रंजिश ही सही वेब सीरीज़ उसे निराश करेगी और शायद इसे वो पूरी भी ना देखें।

खैर, रंजिश ही सही सीरीज़ की कहानी को लेकर ये मेरा पर्सनल ओपिनियन था, आप इस बारे में क्या सोचते हैं? कॉमेंट्स में जरूर बताएं।

एक्टिंग और परफॉर्मेंस

इस सीरीज़ में अहम रोल प्ले किया हैं ताहिर राज भसीन ने, जिनकी परफॉर्मेंस हमने कई वेब सीरीज़ में देखी हैं।

ये एक उम्दा कलाकार हैं और शंकर के कैरेक्टर के साथ पूरा न्याय किया हैं।

ranjish hi sahi web series cast

उन्होंने एक डायरेक्टर के उस दर्द को बयां करने की पूरी कोशिश की हैं जब वो एक के बाद एक फ्लॉप फ़िल्में दे रहा होता हैं।

वहीं अगर अमाला पॉल और अमृता पूरी की बात करें तो इन्होंने अपने क़िरदार को ईमानदारी से निभाने की कोशिश की हैं।

लेकिन ‘घरवाली’ और ‘बाहरवाली’ का जो किरदार निभाने का एहसास होना चाहिए वो यहाँ देखने को नहीं मिला।

म्यूजिक

रंजिश ही सही सीरीज़ का बैकग्राउंड म्यूजिक भी कुछ कमाल नहीं दिखा सका। किसी भी सीन को देखते वक्त म्यूजिक से जो महसूस होना चाहिए था वो यहाँ नहीं हैं।

ये भी पढ़ें:- Aranyak Web Series Review: नेटफ्लिक्स का असुर

हालाँकि इसका एक गाना “थम सा गया” जिसे विशाल मिश्रा ने गाया हैं, लोगों को पसन्द आ रहा हैं।

इसका म्यूजिक हमें ना सिर्फ पुराने वक्त की ओर ले जाता हैं बल्कि रोमांस का एहसास भी करवाता हैं।

रेटिंग

तो यार मेरी तरफ से रंजिश ही सही वेब सीरीज़ को 5 में से 2 स्टार्स मिलेंगे।

एक स्टार एक्टर्स की परफॉर्मेंस के लिए जिन्होंने अपनी तरफ से इस कहानी को बेहतर बनाने की कोशिश की।

और एक स्टार सीरीज़ के कुछ सीन्स के लिए जो देखने लायक हैं और म्यूजिक के लिए, जो शानदार तो नहीं लेकिन उतना बुरा भी नहीं हैं।

ये भी पढ़ें:-

वहीं अगर नेगेटिव्ज की बात करूँ तो एक स्टार कटेगा एक ही कहानी को बार बार रिपीट करने के लिए, जिसे हमनें कई मर्तबा देख और पढ़ रखा हैं।

एक स्टार कटेगा बेकार डायरेक्शन के लिए, जब एक ही कहानी को अलग अलग नजरिए से दिखाने की कोशिश की गई जिससे बार बार एक ही सीन्स रिपीट होते गए।

और एक स्टार कटेगा सीरीज़ को बेवज़ह इतना लंबा बनाने के लिए। रंजिश ही सही की कहानी में वो दम नहीं हैं जो ऑडिएंस को 8 एपिसोड्स तक बाँधे रखें और वो भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर जहाँ उनके पास हजारों विकल्प हैं मूवीज़ और फ़िल्म्स देखने के।

देखो बॉस, अगर आपको नहीं पता कि परवीन बाबी कौन हैं और उनका महेश भट्ट के साथ क्या सम्बन्ध हैं? तो आप रंजिश ही सही सीरीज़ को देख सकतें हो।

आपको इस सीरीज़ में दिखाए गए लव ट्राइएंगल शायद पसन्द आएं लेकिन अगर आप महेश भट्ट की ज़िंदगी से वाकिफ़ हैं तो शायद आपको ये सीरीज़ बोर कर सकती हैं।

ये मेरा पर्सनल ओपिनियन हैं बाकी आप लोग इस बारे में क्या सोचते हैं? मुझे जरूर बताएं।

वैसे मेरा एक सवाल हैं आप लोगों से – की क्या बॉलीवुड को ओरिजनल कहानियों की तलाश करनी चाहिए या जिस तरह रीमेक पर रीमेक बनाएं जा रहें हैं, उसे कंटिन्यू करना चाहिए? कॉमेंट्स में जरूर बताएं।

सुझाव

अगर आपने रंजिश ही सही वेब सीरीज़ देख ली हैं तो ये कुछ वेब सीरीज़ हैं जिन्हें आप देख सकतें हैं।

Human – हाल ही डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज़ हुई ह्यूमन एक ह्यूमन ट्रायल पर आधारित सीरीज़ हैं जिसमें एक दवाई का ट्रायल लोगों पर किया जाता हैं जिसके साइड इफेक्ट्स की वजह से लोगों की मौत हो जाती हैं।

Yeh Kaali Kaali Ankhein – ये काली काली आँखे नेटफ्लिक्स ओरिजनल सीरीज़ हैं जिसमें ताहिर राज भसीन लीड कैरेक्टर प्ले कर रहें हैं।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply