ये काली काली आँखें वेब सीरीज़ रिव्यू [2022]

आप कभी प्यार को लेकर कन्फ्यूज हुए हो? अगर हाँ तो एक बार फिर से कन्फ्यूज होने के लिए तैयार हो जाओ।

क्योंकि नेटफ्लिक्स पर एक नया शो “ये काली काली आँखे” रिलीज़ हुआ हैं जिसका ट्रेलर हाल ही यूट्यूब पर रिलीज़ किया गया था।

इस शो में लीड कैरेक्टर प्ले कर रहें हैं ताहिर राज भसीन जो विक्रांत बने हैं जबकि श्वेता त्रिपाठी बनी हैं उनका प्यार शिखा।

वहीं इस शो में तीसरा अहम कैरेक्टर हैं पूर्वा का, जिसका किरदार निभाया हैं आँचल सिंह ने।

इस शो को नेटफ्लिक्स पर 14 जनवरी को स्ट्रिमिंग के लिए उपलब्ध करवा दिया गया हैं जिसमें कुल 8 एपिसोड्स हैं और हर एपिसोड लगभग 40 मिनट का हैं।

ये काली काली आँखें शो को डायरेक्ट किया सिद्धार्थ सेनगुप्ता ने, जिन्होंने इससे पहले अनदेखी और अपहरण जैसी वेब सीरीज़ डायरेक्ट की थी, जिन्हें लोगों ने बेहद पसन्द किया था।

अब देखना ये हैं कि ये काली काली आँखे लोगों को अपना दीवाना बना पाती हैं या नहीं।

Yeh Kaali Kaali Aankhein Web Series Review in Hindi

yeh kaali kaali ankhein web series review hindi netflix

स्टोरी

ये काली काली आँखे एक ऐसे लड़के विक्रांत की कहानी हैं जो अपना शहर छोड़ कर दूसरे शहर अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने जाता हैं।

विक्रांत को वहाँ प्यार हो जाता हैं एक शिखा नाम की लड़की से और इनका सपना हैं कि हम दोनों शादी करेंगे, छोटा सा घर बनाएंगे और एक अच्छी सी जिंदगी जिएंगे – जो हर कोई सोचता हैं।

और इनके सपनों पर अपनी स्कूटी दे मारती हैं वो लड़की जो इसी लड़के के साथ स्कूल में पड़ती थी – पूर्वा।

पूर्वा, विक्रांत को पाने के लिए कुछ भी कर सकती हैं।

ये भी पढ़ें:- Matsya Kaand वेब सीरीज़ रिव्यू: चोर, पुलिस और महाभारत

वो कभी कभी हमें किसी से इतना लगाव हो जाता हैं ना कि हम उसके लिए ज़ुनूनी बन जाते हैं और कुछ भी कर गुजरने को तैयार हो जाते हैं – बस पूर्वा भी वहीं हैं और विक्रांत के पीछे हाथ धो कर पीछे पड़ी हैं।

yeh kaali kaali ankhein web series story

विक्रांत के जो पिताजी हैं वो एक मुनीम हैं जो की एक बड़े बाहुबली नेता के यहाँ काम करते हैं जिनका नाम हैं अखिराज अवस्थी, जिनका किरदार निभाया हैं लेजेंड्री एक्टर सौरभ शुक्ला ने।

अब जो पूर्वा हैं वो अखिराज अवस्थी की बेटी हैं और अखिराज अवस्थी अपनी बेटी के लिए कुछ भी कर सकतें हैं।

ट्रेलर में आपने अखिराज अवस्थी का एक डायलॉग भी सुना होगा “तुम पूर्वा की ट्रॉफी हो।”

तो बस अखिराज अवस्थी भी पूर्वा को उसकी ट्रॉफी दिलवाने के लिए कुछ भी कर सकतें हैं।

तो इस सीरीज़ में हम यहीं देखेंगे कि विक्रांत और शिखा क्या एक दूसरे के साथ रह पाते हैं? या फिर पूर्वा को उसकी ट्रॉफी मिल जाती हैं।

वैसे इसके ट्रेलर को देखकर थोड़ी दिलचस्पी बनी थी इस सीरीज़ को देखने के लिए लेकिन मुझे इस सीरीज़ को देखना था इसके डायरेक्टर की वजह से।

ये काली काली आँखे सीरीज़ के डायरेक्टर हैं सिद्धार्थ सेनगुप्ता जिन्होंने 2020 में आई अनदेखी सीरीज़ को लिखा था।

और अगर में 2020 की top 5 वेब सीरीज़ की बात करूँ तो अनदेखी वेब सीरीज़ उनमें से एक हैं।

बात करें अनदेखी की या फिर अपहरण सीरीज़ की, दोनों में कुछ नया नहीं था, बस कहानी बताने का तरीका गजब का था जिससे ये दोनों ही सीरीज़ बेहतरीन चली।

ये भी पढ़ें:- Campus Diaries MX Player वेब सीरीज़ रिव्यू: हर्ष बेनीवाल, ऋत्विक साहोरे

और यहीं सब आपको ये काली काली आँखे सीरीज़ में भी देखने को मिलेगा।

एक चीज जो मुझे यहाँ खटकी, वो ये की जब विक्रांत और शिखा को प्यार होता हैं तो बस पलक झपकते ही हो जाता हैं।

यहाँ वो एहसास नहीं हैं जो प्यार होने पर होता हैं, डिटेलिंग बेहद कम दी गयी।

मुझे लगता हैं कि इस टॉपिक को थोड़ा डिटेलिंग के साथ दिखाना चाहिए था ताकि हमें इन दोनों की लव स्टोरी से जुड़ने का एक मौका मिल पाता।

इस सीरीज़ की सबसे बेस्ट चीज हैं इसका स्क्रीनप्ले। मतलब इसे देखते वक्त हर 5 से 10 मिनट में कुछ ना कुछ होगा और जिसकी वजह से आप इससे दूर नहीं जा सकतें।

और उत्सुकता तब ज्यादा बढ़ जाती हैं जब इस सीरीज़ का लास्ट एपिसोड देखते हैं।

इस एपिसोड में जो ट्विस्ट्स आते हैं उसे देखने के बाद हमारे दिमाग में सिर्फ एक ही बात आती हैं – इसका अगला सीज़न कब आएगा?

एक्टिंग और परफॉर्मेंस

ये काली काली आँखे को अगर में ताहिर राज भसीन शो कहूँ तो गलत नहीं होगा। ताहिर राज भसीन ने विक्रांत के कैरेक्टर में अंदर घुसकर एक्टिंग की हैं।

हर एक सीन, फिर चाहें उनका गुस्सा हो या डर, हर सीन को शानदार तरीके से प्रस्तुत किया हैं।

आँचल जो पूर्वा बनी हैं, शानदार परफॉर्मेंस। अगर में रैंकिंग के हिसाब से बताऊँ तो ताहिर राज भसीन के बाद इस शो में दूसरे नम्बर पर हैं आँचल।

इससे पहले हमने अनदेखी में भी इनका रोल देखा था और उससे बेहतर परफॉर्मेंस हमें ये काली काली आँखे में देखने को मिली आँचल के द्वारा।

श्वेता त्रिपाठी – इनका रोल उतना नहीं था इसमें, जिस कारण ये उतनी बेहतरीन परफॉर्मेंस नहीं दिखा पाई।

जैसा कि मैंने पहले कहा था कि अगर विक्रांत और शिखा की लव स्टोरी को थोड़ी ओर डिटेलिंग से दिखाया जाता तो शायद श्वेता की गजब परफॉर्मेंस देखने को मिलती।

yeh kaali kaali ankhein web series cast

वहीं अगर में सौरभ शुक्ला की बात करूँ तो बाहुबली नेता के कैरेक्टर में जान डाल दी हैं इन्होंने। ये अपने हर रोल को उम्दा तरीके से जीते हैं और सच में मजा आ गया इनकी एक्टिंग देखकर।

इसके अलावा बृजेन्द्र काला, इनकी डायलॉग डिलीवरी कमाल की हैं इस सीरीज़ में, दिल को खुश कर देगा इनका कैरेक्टर।

सीरीज़ में इनके अलावा एक लंबी चौड़ी कास्ट देखने को मिलेगी और हर एक ने बेहद शानदार परफॉर्मेंस दी हैं।

एक्टिंग और परफॉर्मेंस के मामले में हमें किसी भी तरह की कमी देखने को नहीं मिली इस शो में।

रेटिंग

तो यार मेरी तरफ़ से ये काली काली आँखे सीरीज़ को 5 में से 4 स्टार्स मिलेंगे।

एक स्टार बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए, एकदम जबरदस्त। ताहिर राज भसीन ने कमाल की परफॉर्मेंस दी हैं और उनका साथ निभाया हैं शो के सभी कलाकारों ने।

एक स्टार मिलेगा राईटिंग के लिए, हालाँकि कहानी उतनी दिलचस्प नहीं थी लेकिन इसमें डॉयलोग्स ने दिल जीत लिया और जिस तरह कहानी में बार बार मोड़ दिए गए, वो कमाल था।

एक स्टार मिलेगा बेहतरीन डायरेक्शन के लिए, मतलब हर कुछ मिनटों के बाद कुछ ना कुछ हो ही रहा हैं इस शो में, जो ना सिर्फ शो को दिलचस्प बनाता हैं बल्कि ऑडिएंस को भी बाँधे रखता हैं।

एक स्टार मिलेगा कमाल की लोकेशन और परफेक्ट क्लाइमेक्स के लिए, जो हमें अगले सीज़न का बेसब्री से इंतज़ार करने के लिए मजबूर कर देता हैं।

वहीं अगर नेगेटिव्ज की बात करूँ तो आधा स्टार कटेगा विक्रांत और शिखा की लव स्टोरी को डिटेल से ना समझाने के लिए।

ये भी पढ़ें:- रंजिश ही सही वूट वेब सीरीज़ रिव्यू: महेश भट्ट की जिंदगी पर आधारित

इसे थोड़ा और बेहतर समझाया जा सकता था, जिसके चलते श्वेता त्रिपाठी को थोड़ी ओर स्पेस मिलती शो में।

जबकि आधा स्टार कटेगा पूर्वा के कैरेक्टर में थोड़ा कम डिटेलिंग देने के लिए।

हालाँकि आँचल ने बेहतरीन परफॉर्मेंस दी लेकिन अगर राईटर और डायरेक्टर ने पूर्वा के कैरेक्टर में थोड़ी ओर डिटेलिंग दी होती तो उनका जो जूनून था विक्रांत को लेकर, वो ओर निखर के आता।

बाकी, मुझे नेटफ्लिक्स ओरिजनल ये काली काली आँखे वेब सीरीज़ को देखकर बेहद मजा आया।

अगर आप इस हफ़्ते खाली हैं और कोई वेब सीरीज़ देखने की प्लानिंग कर रहें हैं तो आपको इस सीरीज़ को एक बार जरूर देखना चाहिए।

आपकी इस शो को लेकर क्या राय हैं? नीचे कॉमेंट्स में जरूर बताएं।

इस हफ़्ते क्या देखें?

अगर आपने ये काली काली आँखे सीरीज़ देख ली हैं तो आपके लिए नीचे कुछ शो के सुझाव दे रहा हूँ जिन्हें आप इस हफ़्ते देख सकतें हैं।

अनदेखी – 2020 में रिलीज़ हुई अनदेखी सीरीज़ को आपको जरूर देखनी चाहिए क्योंकि ये काली काली आँखे सीरीज़ में भी आपको अनदेखी का फ़्लेवर देखने को मिलेगा।

ह्यूमन – 14 जनवरी को रिलीज़ हुई डिज़्नी प्लस हॉटस्टार ओरिजनल वेब सीरीज़ ह्यूमन को आप देख सकतें हैं। इसमें शेफ़ाली शाह और कीर्ति कुल्हारी मुख्य भूमिका में हैं।

अरण्यक – रवीना टण्डन की अरण्यक भी एक शानदार विकल्प हैं। ये भी आपको नेटफ्लिक्स पर मिल जाएगी।

पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए!

Leave a Reply